मित्र

मित्रों के बिना कोई भी जीना पसंद नहीं करेगा चाहे उसके पास शेष सब अच्छी क्यों ना हो! ---अरस्तु

5 टिप्‍पणियां:

Dinesh pareek ने कहा…

आपका ब्लॉग देखा बहुत अच्छा लगा बहुत कुछ है जो में आपसे सिख सकता हु और भुत कुछ रोचक भी है में ब्लॉग का नया सदस्य हु असा करता हु अप्प भी मेरे ब्लॉग पे पदारने की क्रप्या करेंगे कुछ मुझे भी बताएँगे जो में भी अपने ब्लॉग में परिवर्तन कर सकूँगा में अपना लिंक निचे दे रहा हु अप्प कभी देख सकते है
http://dineshpareek19.blogspot.com/
http://vangaydinesh.blogspot.com/

धन्यवाद्
दिनेश पीक

डॉ. हरदीप संधु ने कहा…

मित्रों के बिना कोई भी जीना पसंद नहीं करेगा चाहे उसके पास शेष सब अच्छी क्यों ना हो!

magar khiyaal rahe ke vo मित्र ..मित्र hi hon.. मित्र ke roop main dushman na hon.
bahut baar मित्र kahalvane vale itnaa nuksaan pahuncha jate hain ki baki kii tammam umar aap kisi ko मित्र kahne se katrate hain.

Dhai Aakhar ने कहा…

chanayakya ne kaha tha ki larki se achcha koi dost nahi agar usse shadi na ho

Dhai Aakhar ने कहा…

jaise kutta kutte ka bari hota hai loha lohe ko katta hai usi prakar dusre hai hamari baat or bhawanaon ko samajh sakte hain or usko phalne phoolne ka sathan de sakten hain

Dinesh pareek ने कहा…

रंग के त्यौहार में
सभी रंगों की हो भरमार
ढेर सारी खुशियों से भरा हो आपका संसार
यही दुआ है हमारी भगवान से हर बार।

आपको और आपके परिवार को होली की खुब सारी शुभकामनाये इसी दुआ के साथ आपके व आपके परिवार के साथ सभी के लिए सुखदायक, मंगलकारी व आन्नददायक हो।