मूर्ति

जो व्‍यक्ति इंसान की बनाई मूर्ति की पूजा करता है लेकिन भगवान की बनाई मूर्ति इंसान से नफरत करता है वह भगवान को कभी प्रिय नहीं हो सकता । -- स्‍वामी ज्‍योतिनंद
एक टिप्पणी भेजें