मृत्‍यु

मृत्‍यु और विनाश बिना बुलाए ही आया करते है। क्‍योंकि ये हमारे मित्रों के रूप में नहीं शत्रुओं के रूप में आते है। -- भगवतीचरण वर्मा 
एक टिप्पणी भेजें