वर्तमान

जो बीत गया है , उसकी परवाह न करे, जो आने वाला है उसके सपने न देखे ! अपना ध्यान वर्तमान पर लगाये ! -- महात्मा गाँधी
एक टिप्पणी भेजें