बुधवार, जून 15, 2011

ईमानदारी

वफादार बनकर हकदार बनो, बेईमान बनकर लाचार मत बनो।  -- स्‍वामी ज्‍यातिनंद
एक टिप्पणी भेजें