ख़ुशी

दूसरों की ख़ुशी देना सबसे बड़ा पुण्य का कार्य है ! संतवाणी

कोई टिप्पणी नहीं: