बादल

उंचाई पर पहुँचाने के बाद बादल बन कर भलाई बन कर बरसों ! -- नित्य नन्द स्वामी 

कोई टिप्पणी नहीं: