आलस

आलसी मनुष्‍य कठोर सत्‍य का भी अनुभव नहीं कर पाता। -- जयशंकर प्रसाद 

कोई टिप्पणी नहीं: