कम और अधिक

अधिक  देखे अधिक सुने किन्‍तु बोले कम। -- गुरू नानक देव

कोई टिप्पणी नहीं: