दु:ख

मित्र का हृदय मज़ाक में भी नहीं दुखाना चाहिए। -- साईरस

कोई टिप्पणी नहीं: