शस्‍त्र

इस युग की सबसे बड़ी शक्ति शस्‍त्र नहीं सदविचार है। --- अनामिका

कोई टिप्पणी नहीं: