नेतृत्‍व

नेतृत्‍व करने वालो के शब्‍दकोशों में असम्‍भव शब्‍द नहीं होता कितनी ही बड़ी चुनौतियां क्‍यों न हो मजबूत और संकल्‍प से उन्‍हे सुलझाया जा सकता है। --- बिन राशिद अल मक्‍तौम 
एक टिप्पणी भेजें