त्रासदी

जीवन की त्रासदी यह नहीं है आप अपने लक्ष्‍य तक नहीं पहुंच पाए। त्रासदी तो तब है कि आपके पास पहुंचने के लिए कोई लक्ष्‍य ही न हो। ---- बेंजामिन मेस
एक टिप्पणी भेजें