पाप

गुप्‍त रूप से किया गया पाप मरते समय तक चुभता रहता है । --- शंकराचार्य 

कोई टिप्पणी नहीं: