नेकी

दुश्‍मन के साथ नेकी करना रोगी की सेवा से कम नहीं है। --- प्रेमचन्‍द

कोई टिप्पणी नहीं: