निर्णय

पुरूषार्थ उसी में है जो संकट की घड़ी में निर्णय लेने में कोई संकोच नहीं करता । --- वेदव्‍यास

कोई टिप्पणी नहीं: