विचार

असफलता के विचार से सफलता का उत्‍पन्‍न होना, उतना ही असम्‍भव है, जितना बबुल के पेड़ से गुलाब के फूल का निकलना। --- बंकिमचंद्र
एक टिप्पणी भेजें