शुक्रवार, सितंबर 13, 2013

दर्पण

चेहरा आप कांच के दर्पण में भी देख सकते है लकिन आपके कर्म में ही आपकी आत्‍मा निहित है । --- जार्ज बनार्ड शॉ 
एक टिप्पणी भेजें