गुरुवार, सितंबर 26, 2013

भूल

भूल करना मनुष्‍य का स्‍वभाव है । की गई भूल को स्‍वीकार करना एवं उसे फिर न करने का प्रयास करना वीर एवं शूर होने का प्रतीक है। --- महात्‍मा गांधी 
एक टिप्पणी भेजें