शब्‍द

शब्‍दों से बेहतर उपदेश नहीं दिए जा सकते । यह तो आपके कर्म अथवा जीवन से परिलक्षित होता है। --- ओलिवर गोल्‍डस्मिथ 
एक टिप्पणी भेजें