सोमवार, नवंबर 18, 2013

दासता

इंसान के आधे गुण तो उसी समय विदा हो जाते है जब वह दूसरों की दासता स्‍वीकार करता है। --- होमर 
एक टिप्पणी भेजें