कर्म

मनुष्‍य अपने कर्म से महान होता है अपने जन्‍म से नहीं । --- चाणक्‍य

कोई टिप्पणी नहीं: