असफलता

विश्‍व के अधिकांश लोग इ‍सलिए असफल हो जाते है क्‍योंकि उनमे समय पर साहस का संचार नहीं हो पाता । वे भयभीत हो उठते हैं। --- स्‍वामी विवेकानंद 
एक टिप्पणी भेजें