आदतें

अपनी आदतों के अनुसार चलने में इ‍तनी मूर्खताऐं नहीं होती जितनी दुनिया का लिहाज रखकर चलने में होती है। --- लेडी मैरी मांटेग्‍यू
एक टिप्पणी भेजें