सेवा

सेवा के लिए पैसे की जरूरत नहीं होती जरूरत है अपने सकुंचित विचार छोड़ने की । --- विनोब भावे 

कोई टिप्पणी नहीं: