प्रसिद्धि

प्रसिद्धि व धन उस समुद्री जल के समान है, जिसे जितना ज्‍यादा हम पीते है उतने ही प्‍यासे होते है। --- अज्ञात 
एक टिप्पणी भेजें