प्रतिस्‍पर्धा

किसी से किसी भी तरह की प्रतिस्‍पर्धा की आवश्‍यकता नहीं है। आप स्‍वयं में जैसे है एकदम सही है । खुद को स्‍वीकारिए। --- ओशो
एक टिप्पणी भेजें