ऐसे तुम हो

कहने को कोई कहता है ऐसे तुम हो । क्या कहने से होता है कि वैसे तुम हो । --- अज्ञात 

कोई टिप्पणी नहीं: