महानता

महानता कभी न गिरने में नहीं बल्कि हर बार गिर कर उठ जाने में है। -- कन्फ्यूशियस 

कोई टिप्पणी नहीं: