विकल्प

जीवन के दो मूल विकल्प होते हैं स्तिथियों  को उसी रूप में स्वीकार करना जैसी वे हैं या उन्हें बदलने का उत्तरदायित्व स्वीकार करना। 

एक टिप्पणी भेजें