ज्ञान

प्रकृति, अपरिमित ज्ञान का भंडार है, परंतु उससे लाभ उठाने के लिए अनुभव आवयश्क है। 

एक टिप्पणी भेजें