महल

आप अपने सपनों का महल तो बनाने की सोच सकते हैं लेकिन इस मूर्तरूप देने में श्रमिकों का ही योगदान होता है।
( साभार ) 

कोई टिप्पणी नहीं: