सत्य

सत्य बहुत बड़ा पेड़ है, उसकी जितनी सेवा करो उतने फल आते है, जिनका अंत नही होता। 

कोई टिप्पणी नहीं: